Advert

INDIA LIVING NEWS

According to Chanakya Niti, such a person should never tell secret things.

चाणक्य नीति के अनुसार इन आदतों वाला व्यक्ति कभी नहीं बन पाता अमीर


Chanakya Niti : आचार्य चाणक्य अपने समय में महानतम शिक्षकों में से एक थे। उन्होंने मनुष्य जीवन को बेहतर बनाने के लिए कई बातें बताई है , जो आज भी लोगों का सही मार्गदर्शन करती हैं। चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने धन की उपयोगिता और उसके महत्व के बारे में विस्तार से बताया है। साथ ही आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति शास्त्र में उन आदतों के बारे में जिक्र किया है, जो हमेशा व्यक्ति को गरीबी के रास्ते पर ढकेलती हैं। इन आदतों वाला व्यक्ति जीवन में कभी भी अमीर नहीं बन पाता है। आइए जानते हैं उन आदतों के बारे में …

1. आचार्य चाणाक्य के अनुसार शरीर को साफ-सुथरा रखने के साथ दांतों और वस्त्रों को भी साफ रखना बहुत जरूरी है। वे लोग जो नियमित तौर पर नहीं नहाते और गंदे कपड़े पहनते हैं, उन पर मां लक्ष्मी की कृपा नहीं बरसती है। ऐसे लोग जीवन भर बीमारियों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं और उसी में उनका सारा पैसा खर्च हो जाता है।

2. चाणक्य नीति के अनुसार सुबह का समय सबसे कीमती होता है, इसलिए व्यक्ति को हमेशा सुबह जल्दी उठ जाना चाहिए। वहीं जो लोग सुबह देर से उठते हैं, वे कई बीमारियों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं। ऐसे लोगों के ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा नहीं होती है। वे सदा गरीबी में अपना जीवन जीते हैं।

3. आचार्य चाणाक्य कहते हैं कि जिन लोगों के अंदर कड़वा बोलने की आदत होती है। वे सदा नकारात्मकता फैलाते हैं। उनके पास कोई नहीं ठहरता। इस वजह से कामयाबी के सभी दरवाजे उनके लिए बंद हो जाते हैं और वे दरिद्रता में जीवन व्यतित करते हैं।

4. चाणक्य कहते हैं कि जहां महिलाओं का अनादर, उनकी इज्जत नहीं की जाती वहां लक्ष्मी का वास नहीं होता. व्यक्ति अपने दुर्व्यवहार के कारण आर्थिक तंगी से गुजरता है.

5. चाणक्य के अनुसार जो व्यक्ति रात में रसोई में जूठे बर्तन रखते हैं ऐसे घर में मां लक्ष्मी की कृपा नहीं बरसती. चूल्हे के ऊपर या आसपास भी जूठे बर्तन नहीं रखने चाहिए.

6. चाणक्य नीति कहती है कि शाम के समय झाडू लगाने से घर की बरकत चली जाती है. संध्या का समय मां लक्ष्मी का आगमन का वक्त होता है. सूर्यास्त के बाद झाड़ू लगाना पड़े तो कचरा घर में ही समेट कर रखें.

7. कमाई के लालच में गलत तरीके से पैसों का इस्तेमाल करना, या धन के बलबूते पर दूसरों को परेशान करना व्यक्ति को बर्बादी की कगार पर ले आता है. ऐसा धन पलभर की खुशी दे सकता है।

8. चाणक्य कहते हैं कि जो नियमित नहीं रहते यानी कि अपने कार्य को अक्सर कल पर टाल देते हैं, ऐसे लोग जल्द निर्धन हो जाते हैं.

Disclaimer : इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. इंडिया लिविंग न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले किसी विशेषज्ञ से संपर्क करें।

नोट : उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अधिक जानकारी के लिए मुख्य संपादक से संपर्क करें