INDIA LIVING NEWS

Latest news
घोड़े की नाल का छल्ला पहने , शनि देव चमाकाएंगे किस्मत; पैसों की नहीं होगी कमी, भरी रहेगी जेब यूट्यूबर लिव-इन जोड़े ने सातवीं मंजिल से छलांग लगाकर दी जान Loksaba Election 2024 : शिरोमणि अकाली दल ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट पंजाब सरकार एक्शन में, स्कूलों के लिए जारी कर दिए सख्त Order खालसा साजना दिवस पर माथा टेकने जा रहे श्रद्धालुयों की ट्रैक्टर ट्राली पलटी, दो लोगों की मौत Laddu Gopal : क्या आपके घर में भी हैं लड्डू गोपाल, तो इन नियमों का रखें ख़ास ख्याल सोने की कीमत पहुंची रिकॉर्ड स्तर पर, प्रति 10 ग्राम के लिए खर्चने पड़ेंगे इतने रूपए बड़ी खबर : 15 करोड़ की हैरोइन सहित कुख्यात जयपाल भुल्लर गैंग के साथी को पुलिस ने किया गिरफ्तार Jalandhar : AIG नरेश डोगरा की माता उषा रानी जी का हुआ देहांत, कल होगा अंतिम संस्कार Swiggy की अनोखी सर्विस, पानी पर भी शुरू की फूड डिलीवरी,श्रीनगर की डल झील में हाउसबोट पर भी लीजिये खा...
Refrigerator and un-washed mask also threatens black fungus, Chandigarh PGI gives rescue tips

रेफ्रिजरेटर व बिना धुले मास्क से भी ब्लैक फंगस का खतरा, चंडीगढ़ PGI ने दिए बचाव के टिप्स


चंडीगढ़ : कोरोना महामारी से राहत भी नहीं मिली कि ब्लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों में स्टेरॉयड के अधिक इस्तेमाल, मधुमेह और उपर से संक्रमण के चलते ज्यादातर लोग ब्लैक फंगस की चपेट में आ रहे हैं। इस बीमारी के बढ़ने के कई कारण हैं। लोग अपने घरों में और आसपास साफ-सफाई नहीं रख रहे हैं।

वातावरण के विपरित असर और जलवायु में परिवर्तन के चलते भी ब्लैक फंगस की बीमारी बढ़ रही है। इसके अलावा घर में रेफ्रिजरेटर में रखी गईं खाने-पीने की चीजों के गलत इस्तेमाल से भी लोगों में यह बीमारी फैलना का कारण बन रही है। यह कहना है कि पीजीआइ के मेडिकल माइक्रोबायोलाॅजी विभाग के हेड डाॅ. प्रो अरुणालोक चक्रवर्ती का।

देखने में आया है कि कई लोग एक ही मास्क को बिना धोए दो से तीन दिन तक लगातार इस्तेमाल करते हैं, जो कि ब्लैक फंगस या संक्रमण के फैलने का सबसे बड़ा कारण है। प्रो. अरुणालोक चक्रवर्ती ने बताया कि जो लोग दिन में कम से कम दो से तीन बार मास्क नहीं बदलते हैं। वो लोग भी ब्लैक फंगस या संक्रमण की चपेट में आसानी से आ सकते हैं।

प्रो. अरुणालोक ने बताया कि घर में रेफ्रिजरेटर में जो खाने-पीने की चीजें रखी जाती है। रेफ्रिजरेटर में गैस के जरिए इस खाने का ठंडा और खराब होने से बचाया जाता है, लेकिन रेफ्रिजरेटर में ज्यादा दिनों तक खाना रखने और उसे बाद में गर्म कर खाने के कारण भी ब्लैक फंगस की बीमारी हो सकती है। लंबे समय तक फ्रिजर को साफ न करने से नमी और हवा के संपर्क में आने पर खाने-पीने की चीजों पर फंगस जमा हो जाती हैं, जो कि खतरनाक है।

बचाव के लिए यह भी जरूरी

ब्लैक फंगस से बचाव के लिए जरूरी है कि रेफ्रिजरेटर में खाने-पीने की चीजें खुलीं न रखें
खाने-पीने की चीजों को ज्यादा दिन तक न रखें। जैसे आटा गूंथकर न रखें, खुली ब्रेड न रखें, दूध, दही, बचा हुआ खाना न रखें।
खाने पीने की चीजों में फंगस जल्द लगता है। रेफ्रिजरेटर में एक ही जगह पर अधिक मात्रा में खाने-पीने की चीजें रखे होने के कारण ये आसानी से फैल सकता है।
मेडिकल साइंस की मानें तो ब्लैक फंगस हवा से ही फैलता है। यह एक इंसान से दूसरे इंसान को नहीं होता।

 

 

source link

Disclaimer - उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अगर इस खबर से किसी वर्ग को आपत्ति है , तो वह इंडिया लिविंग न्यूज़ से संपर्क कर सकता है। www.indialivingnews.in