INDIA LIVING NEWS

Latest news
घोड़े की नाल का छल्ला पहने , शनि देव चमाकाएंगे किस्मत; पैसों की नहीं होगी कमी, भरी रहेगी जेब यूट्यूबर लिव-इन जोड़े ने सातवीं मंजिल से छलांग लगाकर दी जान Loksaba Election 2024 : शिरोमणि अकाली दल ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट पंजाब सरकार एक्शन में, स्कूलों के लिए जारी कर दिए सख्त Order खालसा साजना दिवस पर माथा टेकने जा रहे श्रद्धालुयों की ट्रैक्टर ट्राली पलटी, दो लोगों की मौत Laddu Gopal : क्या आपके घर में भी हैं लड्डू गोपाल, तो इन नियमों का रखें ख़ास ख्याल सोने की कीमत पहुंची रिकॉर्ड स्तर पर, प्रति 10 ग्राम के लिए खर्चने पड़ेंगे इतने रूपए बड़ी खबर : 15 करोड़ की हैरोइन सहित कुख्यात जयपाल भुल्लर गैंग के साथी को पुलिस ने किया गिरफ्तार Jalandhar : AIG नरेश डोगरा की माता उषा रानी जी का हुआ देहांत, कल होगा अंतिम संस्कार Swiggy की अनोखी सर्विस, पानी पर भी शुरू की फूड डिलीवरी,श्रीनगर की डल झील में हाउसबोट पर भी लीजिये खा...
Akali workers wave black flags on homes on May 26: Sukhbir Badal

26 मई को घरों पर काले झंडे लहराएं अकाली वर्कर : सुखबीर बादल


आदमपुर : शिरोमणी अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने अकाली कार्यकर्ताओं से अपील की है कि किसान आंदोलन के समर्थन में 26 मई को अपने घरों में काले झंडे लहराएं। आदमपुर के गांव कालरा में आठवें कोविड केयर सेंटर के उद्घाटन कार्यक्रम में सुखबीर ने कहा कि किसान आंदोलन को 6 महीने हो गए हैं और केंद्र सरकार किसानों की आवाज नहीं सुन रही। 26 मई को सभी अकाली वर्कर किसानों के साथ एकजुटता दिखने के लिए अपने घरों पर काले झंडे लहराएं।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी से अपील की कि किसानों से बातचीत करें व उनकी शिकायतों को तुरंत हल करें। उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार ने मिलकर पंजाब को फेल कर दिया है। सरकार से अपील की कि वह पहल के आधार पर किसानों से बातचीत करके कृषि कानून रद करे।

गांव कालरा के कोविड केयर सेंटर के बारे में बताया कि सेंटर में 17 बेड हैं। यहां डाक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ 24 घंटे उपलब्ध रहेगा। सुखबीर बादल ने कहा कि विधायक पवन टीनू के प्रयासों से कोविड केयर सेंटर खोला जा सका है जोकि डेरा संत बाबा भाग जब्बड़ के सहयोग से चलेगा। उन्होंने कहा कि इस सेंटर में लेवल-1 के मरीजों का इलाज किया जाएगा।

 

 

source link

Disclaimer - उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अगर इस खबर से किसी वर्ग को आपत्ति है , तो वह इंडिया लिविंग न्यूज़ से संपर्क कर सकता है। www.indialivingnews.in