INDIA LIVING NEWS

Latest news
घोड़े की नाल का छल्ला पहने , शनि देव चमाकाएंगे किस्मत; पैसों की नहीं होगी कमी, भरी रहेगी जेब यूट्यूबर लिव-इन जोड़े ने सातवीं मंजिल से छलांग लगाकर दी जान Loksaba Election 2024 : शिरोमणि अकाली दल ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट पंजाब सरकार एक्शन में, स्कूलों के लिए जारी कर दिए सख्त Order खालसा साजना दिवस पर माथा टेकने जा रहे श्रद्धालुयों की ट्रैक्टर ट्राली पलटी, दो लोगों की मौत Laddu Gopal : क्या आपके घर में भी हैं लड्डू गोपाल, तो इन नियमों का रखें ख़ास ख्याल सोने की कीमत पहुंची रिकॉर्ड स्तर पर, प्रति 10 ग्राम के लिए खर्चने पड़ेंगे इतने रूपए बड़ी खबर : 15 करोड़ की हैरोइन सहित कुख्यात जयपाल भुल्लर गैंग के साथी को पुलिस ने किया गिरफ्तार Jalandhar : AIG नरेश डोगरा की माता उषा रानी जी का हुआ देहांत, कल होगा अंतिम संस्कार Swiggy की अनोखी सर्विस, पानी पर भी शुरू की फूड डिलीवरी,श्रीनगर की डल झील में हाउसबोट पर भी लीजिये खा...
chandigarh-administration-entry-ban-in-sukhna-lake-and-rock-garden

चंडीगढ़ में कोरोना के कारण प्रशासन ने सुखना लेक और रॉक गार्डन में एंट्री की बंद, बढ़ती पाबंदियों से ‘लॉक’ हुआ जनजीवन


चंडीगढ़ (दीपक ) : ब्यूटीफुल सिटी चंडीगढ़ में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते प्रशासन ने पाबंदियां बढ़ा दी हैं। शहर में कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन तो नहीं है लेकिन जनजीवन लॉक हो चुका है। मंगलवार को वॉर रूम में प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में कोरोना की बढ़ते मामलों को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने पर चर्चा हुई। शहर में लगाए गए रात्रि कर्फ्यू की समय सीमा कम कर दी गई है। चंडीगढ़ में अब नाइट कर्फ्यू का समय रात 10.30 के बजाय अब रात 10 से सुबह पांच बजे तक किया गया है। चंडीगढ़ के सबसे बड़े पर्यटन स्थल रॉक गार्डन और सुखना लेक को अगले आदेशों तक बंद कर दिया गया है।

हालात यह हैं कि अब शहर में रोजाना लगभग 400 के करीब कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। जिसके चलते प्रशासन ने सख्ती बढ़ाने का फैसला लिया है। कोरोना के मामले बढ़ने पर चंडीगढ़ सेक्टर-48 हॉस्पिटल में बेड बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं। वहीं, शहर में 30 नए माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर अभी तक 58 हजार चालान किए गए।

 

source link

Disclaimer - उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अगर इस खबर से किसी वर्ग को आपत्ति है , तो वह इंडिया लिविंग न्यूज़ से संपर्क कर सकता है। www.indialivingnews.in