INDIA LIVING NEWS

A Mumbai family made serious allegations against Pastor Bajinder Singh, saying 80 thousand for him to bring dead sister alive

मुंबई के एक परिवार ने पास्टर बजिंदर सिंह पर लगाए गंभीर आरोप, कहा मृत बहन को जिंदा करने के लिए उनसे लिये 80 हजार , और धोखे से करवा दिया धर्म परिवर्तन


जालंधर (जय धीर ) : आज सोमवार एसएसपी दफ्तर में शिकायत देने पहुंचे मुंबई के शुभम पंडित ने पास्टर बजिंदर सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी छोटी बहन नंदनी उम्र 17 साल थी। वह पिछले कुछ समय से कैंसर से पीड़ित थी। हम मुंबई में बहुत गरीब परिवार से हैं हमारे पिता की कई साल पहले मृत्यु हो चुकी है। शुभम पंडित ने बताया कि डॉक्टरों के मुताबिक उसकी बहन का इलाज नहीं हो सकता। इसी परेशानी के चलते हुए हम मुंबई में ही रहती सर्वना खेड़े के संपर्क में आए जो पास्टर बजिंदर सिंह के लिए काम करती है, उसने हमसे मिलना जुलना शुरू कर दिया और पुरजोर यह विश्वास दिलाया कि पास्टर बजिंदर सिंह कैंसर और हर बीमारी का इलाज करते हैं और मुर्दों को भी जिंदा करने की भी ताकत रखते हैं। उन्होंने बताया कि सरगना ने बरजिंदर सिंह से हमारी वीडियो कॉल से बात भी करवाई, जिस ने यह दावा किया कि वह मेरी बहन नंदिनी का कैंसर जड़ से खत्म कर देंगे। उन्होंने हमें पंजाब में आने के लिए बुलाया।

बजिंदर सिंह और सर्वना के कहने पर हम उनसे मिलने राजपूरा कुराली रोड़ न्यू चंडीगढ़ में गए। वहां के वलंटियरों और सिक्योरिटी गार्ड्स ने हमारी बजिंदर सिंह से वीडियो कॉन्फ्रेंस से करवाई। जिसने हमें अपॉइंटमेंट कहकर के 10- 12 दिनों तक जालंधर के चर्च में मिलने को कहा। उन्होंने अपॉइंटमेंट के नाम पर हम से 5000 रूपए ले लिए यह कुछ दिनों बाद फोन 0 172- 5100 777 से हमें फोन कर हमें पास्टर बजिंदर सिंह से मिलने के लिए 28 फरवरी 2021 को गांव ताजपुर नकोदर रोड़ जालंधर में स्थित चर्च में बुलाया गया। वहां सिक्योरिटी गार्ड ने नंदिनी का कैंसर ठीक करने के लिए 100000 रूपए की मांग की, जिस पर हमने अपनी माली हालात के बारे में बताया। जिस पर बजिंदर सिंह ने कहा कि अगर मैं और मेरी माताजी वीणा पंडित और मेरी बहन नंदनी धर्म परिवर्तन कर ईसाई बन जाए तो वह नंदिनी का कैंसर थोड़े ही पैसों में ठीक कर देंगे।

उनके झांसे में आकर हमने उनकी बात मान ली और बजिंदर सिंह और उनके वलंटियरों ने हमारा धर्म परिवर्तन करवा दिया और हम से 40 हजार रुपए भी ले लिए। बजिंदर सिंह ने दवा के नाम पर कुछ प्रसाद खिलाया, होली वाटर पिलाया, मंत्र पढ़े और प्रेयर की। बजिंदर सिंह ने कहा अब नंदिनी का कैंसर उसने निकाल कर ठीक कर दिया है। हमें उसने कहा कि हर रोज तीन बार प्रेयर करें और प्रभु यीशु मसीह को याद करें और रोजाना बाइबल पढ़ें। उसने हमें जादुई तेल भी दिया और कहा कि नंदिनी रोजाना यह तेल पिए और लगाए भी। उसने कहा कि कुछ ही दिनों में नंदिनी भागने दौड़ने लग जाएगी। नंदिनी की तबीयत में कुछ सुधार ना आते हमने 24 मार्च 2021 को उसका सिटी स्कैन करवाया। जिसमें हमें पता चला कि नंदनी कि हालत बहुत बिगड़ चुकी है। उस वक्त हम मुंबई में ही थे और हमारी बात पास्टर बजिंदर सिंह के वलंटियरों से हुई, जिसने हमें 11 अप्रैल 2021 को पास्टर बजिंदर सिंह से स्पेशल प्रेयर करवाने की बात कही। हम नंदनी को लेकर 11अप्रैल को ताजपुर गांव में स्थित चर्च में पहुंचे।

जहां बजिंदर सिंह के वलंटियरों ने उनसे 5 हजार रुपए लेकर बजिंदर सिंह से विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से स्पैशल प्रेयर करवाई और बजिंदर सिंह के कहने पर वलंटियरों द्वारा मंत्रो से इलाज के दौरान उसकी बहन की मृत्यु हो गई।

बात यहीं खत्म नहीं हुई बजिंदर सिंह ने फिर विडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए आप वहां आकर उसकी बहन को जिंदा करने के नाम पर 50 हजार की मांग की। उन्होंने उस वक्त 30 हजार देकर बहन को जिंदा करने की बात कही तथा बाकी पैसा मुंबई जाकर देने को कहा। शुभम ने बताया कि ना तो मेरी बहन ज़िंदा हुई और हमसे पैसे भी ठग लिए तथा धोखे से एक ब्रहमण परिवार का धर्मांतरण करवा ईसाई बना दिया। उन्होंने एसएसपी से उपरोक्त दोषियों पर आईपीसी पर धारा 420,304 तथा अन्य प्रावधानों के अंतर्गत मामला दर्ज करने की मांग की है ताकि मेरी बहन को इंसाफ मिल सकें।

 

नोट : उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अधिक जानकारी के लिए मुख्य संपादक से संपर्क करें