INDIA LIVING NEWS

Latest news
घोड़े की नाल का छल्ला पहने , शनि देव चमाकाएंगे किस्मत; पैसों की नहीं होगी कमी, भरी रहेगी जेब यूट्यूबर लिव-इन जोड़े ने सातवीं मंजिल से छलांग लगाकर दी जान Loksaba Election 2024 : शिरोमणि अकाली दल ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट पंजाब सरकार एक्शन में, स्कूलों के लिए जारी कर दिए सख्त Order खालसा साजना दिवस पर माथा टेकने जा रहे श्रद्धालुयों की ट्रैक्टर ट्राली पलटी, दो लोगों की मौत Laddu Gopal : क्या आपके घर में भी हैं लड्डू गोपाल, तो इन नियमों का रखें ख़ास ख्याल सोने की कीमत पहुंची रिकॉर्ड स्तर पर, प्रति 10 ग्राम के लिए खर्चने पड़ेंगे इतने रूपए बड़ी खबर : 15 करोड़ की हैरोइन सहित कुख्यात जयपाल भुल्लर गैंग के साथी को पुलिस ने किया गिरफ्तार Jalandhar : AIG नरेश डोगरा की माता उषा रानी जी का हुआ देहांत, कल होगा अंतिम संस्कार Swiggy की अनोखी सर्विस, पानी पर भी शुरू की फूड डिलीवरी,श्रीनगर की डल झील में हाउसबोट पर भी लीजिये खा...
Order to kill hundreds of chickens in Pathankot, Punjab, buried 120 other pet birds, know the reason

पंजाब के पठानकोट में सैकड़ों मुर्गियों को मारने का आदेश, 120 अन्य पालतू परिंदों को भी दफनाया, जानिए वजह


पठानकोट (संदीप ): कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच देश में एक बार फिर बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। मिली जानकारी के अनुसार पंजाब के पठानकोट जिले में बर्ड फ्लू की दस्तक से हड़कंप मच गया है। पिछले महीने लिए गए सैंपलों में से पांच मुर्गियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई है। जिला प्रशासन ने संक्रमित मिली मुर्गियों वाले दो पोल्ट्री फार्म की सैकड़ों मुर्गियों को नष्ट करवा दिया। 120 अन्य पालतू पक्षियों को मारने के आदेश जारी किए गए हैं। मामला जिले के गांव छतवाल का है।

संक्रमित पोल्ट्री फार्मों में दवाओं का छिड़काव करवाया गया। इलाके के लोगों को फार्म से दूर रहने की हिदायत दी है। इसके अलावा गांव छतवाल के एपिक सेंटर के एक किलोमीटर एरिया को संक्रमित जोन घोषित करते हुए छतवाल के पशु अस्पताल में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है।जिला प्रशासन ने पत्र जारी कर पुलिस विभाग, नगर निगम, उप मंडल मजिस्ट्रेट, सेहत विभाग, पशु पालन विभाग और नापतोल विभाग के अधिकारियों की ड्यूटियां लगाई हैं।

 

source link

Disclaimer - उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अगर इस खबर से किसी वर्ग को आपत्ति है , तो वह इंडिया लिविंग न्यूज़ से संपर्क कर सकता है। www.indialivingnews.in