Logo and Menue

किसान आंदोलन के समर्थन में भाजपा की जिला उपाध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी


पंजाब प्रधान अश्विनी शर्मा और जिला प्रधान सुशील शर्मा को भेजा अपना त्यागपत्र

जालंधर : दिल्ली में चल रहे देशव्यापी किसान आंदोलन में पंजाब भाजपा की मुसीबतें भी कम होती नजर नहीं आ रही है। एक और जहां हर जगह भाजपा का विरोध हो रहा है वही पार्टी के अंदर सुलग रही असंतोष की आग भी धीरे-धीरे बढ़कर ज्वालामुखी बनती जा रही है। इसी घटनाक्रम के दौरान पार्टी की 25 साल पुरानी कार्यकर्ता व जिला भाजपा महिला मोर्चा की उपप्रधान सतविंदर कौर मुल्तानी ने भाजपा आलाकमान के किसान आंदोलन को लेकर अड़ियल रवैया को देखते हुए पंजाब भाजपा प्रधान अश्विनी शर्मा व जिला प्रधान सुशील शर्मा को अपना त्यागपत्र भेज दिया है।

त्यागपत्र

इस बारे में सोमवार जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि पिछले 25 सालों से वह भाजपा की कार्यकर्ता रहीं है और पार्टी द्वारा दी गई जिम्मेदारियों को उन्होंने अपने तन मन धन से निभाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में सीमाओं पर बैठे किसान किस तरह शांति पूर्वक अपना आंदोलन कर रहे हैं उसे अपनी आंखों से देख कर उनकी आत्मा चित्कार कर उठी है। जबकि हमारे नेता टीवी पर किसानों के आंदोलन के बारे में जो व्याख्या कर रहे हैं वह असल हालातों से बिल्कुल उल्ट है।

मूलभूत जरूरतों से परे किसान किस कदर अपना आंदोलन जारी रखे हुए हैं यह देखकर उनकी आत्मा दुखी हो रही है। उन्होंने ने कहा कि भाजपा आलाकमान को किसानों की मांगे मान लेनी चाहिए। आलाकमान पंजाबियों के हिम्मत, हौसले व दृढ़ निश्चय को बहुत कम करके आंक रही है जिसका खामियाजा भाजपा भुगत भी रही है और भविष्य में भी इसे भुगतना पड़ेगा। इन्हीं हालातों को देखते हुए मैं अपना त्यागपत्र पंजाब भाजपा प्रधान व जिला प्रधान को भेज रही है।

 

नोट : उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अधिक जानकारी के लिए मुख्य संपादक से संपर्क करें

Leave a Comment