INDIA LIVING NEWS

Made in India messaging app Hike closed, was launched in 2019 in the competition of WhatsApp

मेड इन इंडिया मैसेजिंग एप Hike हुआ बंद, 2019 में WhatsApp की टक्कर में हुआ था लॉन्च


नयी दिल्ली (अक्षय ): सोशल मीडिया पर भले ही भारतीय यूजर्स मेड इन इंडिया सोशल मीडिया की मांग जोर-शोर से करते हैं लेकिन हकीकत में वे मेड इन इंडिया एप को इस्तेमाल करना ही नहीं चाहते। इसका ताजा प्रमाण Hike का Sticker Chat app है जो महज दो साल के अंदर बंद हो गया है। इसकी पुष्टि एप के को-फाउंडर और सीईओ केविन भारती मित्तल ने ट्वीट करके की है। Hike Sticker Chat एप को हाइक एप के नाम से भी जाना जाता है।

कुछ दिन पहले ही मित्तल ने अपने ट्वीट में कहा था कि Hike एप को जनवरी 2021 में बंद कर जाएगा, हालांकि HikeMoji और हाइक की अन्य सेवाएं जारी रहेंगी। शुरुआती दौर पर Hike को लाखों लोग इस्तेमाल कर रहे थे और औसतन प्रत्येक यूजर एप पर 35 मिनट समय दे रहा था, लेकिन एप कंपनी की उम्मीदों के मुताबिक सफल नहीं हो पाया।

भारतीय मैसेजिंग एप हाइक को एप स्टोर से हटा दिया गया है। इसकी लॉन्चिंग में भारत में व्हाट्सएप को टक्कर देने के लिए हुई थी। हाइक एप की शुरुआत भारती एयरटेल के प्रमोटर सुनील भारती मित्तल के बेटे केविन भारती मित्तल ने की थी।कंपनी के एक प्रवक्ता ने बताया कि यूजर्स का डाटा एप में सुरक्षित है। वे चाहें तो डाउनलोड कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि HikeMoji अपने दो नए एप्स Vibe और Rush के साथ उपलब्ध रहेगा।

 

source link

नोट : उक्त खबर इंडिया लिविंग न्यूज़ को सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई है। इंडिया लिविंग न्यूज़ इस खबर की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं करता। अधिक जानकारी के लिए मुख्य संपादक से संपर्क करें